Search Suggest

महाराणा प्रताप पुण्यतिथि 2022 Wishes, Quotes: इस गौरवशाली दिन पर अपने सोशल मीडिया पर शेयर करें महान राजपूत योद्धा के प्रेरणादायक विचार

 

महाराणा प्रताप पुण्यतिथि 2022 Wishes, Quotes: इस गौरवशाली दिन पर अपने सोशल मीडिया पर शेयर करें महान राजपूत योद्धा के प्रेरणादायक विचार

"जय एकलिंग से गुंजा अंबर ,
             रणभेरी ललकार उठी,      गिरे गगन से पुण्य करोड़ों,            जब राणा की तलवार उठी।।"

जन्म 1540 मेवाड़, स्वाभिमान और सदाचारी व्यवहार महाराणा प्रताप के प्रमुख गुण थे। वीरों के वीर महाराणा प्रताप पुण्यतिथि 2022 Wishes, Quotes: इस गौरवशाली दिन पर अपने सोशल मीडिया पर शेयर करें महान राजपूत योद्धा के प्रेरणादायक विचार


निडर, साहसी और बहादुर थे महान राजपूत योद्धा। महाराणा प्रताप के प्रमुख गुण स्वाभिमान और सदाचारी व्यवहार जिनको शिक्षा के बजाय खेल और हथियार चलाने में अधिक आनंद आता था। 


१. "राणा प्रताप आजादी का अपराजित भूमि के मुक्ति मंत्र का गायक है।"


२. "अजर अमरता का गौरव वह,वह मानवता का विजय तूर्य।"


३. "आदशों के दुर्गम पथ को, आलोकित करता हुआ सूर्य।"


४. "घास की रोटी खाकर भी जो

              अपनी आन संजोता था।

     हर नारी के मान की खातिर जो,

               महाराणा लड ता था।

      पशु प्रेम इतना की

               चतक हवा से बातें करता था।

      राणा ऐसा कहां से लाऊं,

                जो बिन रास्ता शोर से,

       गो रक्षा को लड़का था।


५. "जय एकलिंग से गुंजा अंबर ,

             रणभेरी ललकार उठी,

      गिरे गगन से पुण्य करोड़ों,

            जब राणा की तलवार उठी।।"


वैसे तो महाराणा प्रताप की वीरता की कई किस्से हैं जिसमें से हल्दीघाटी के युद्ध में अकबर के सेना को लोहे के चने चबाने पर मजबूर कर दिया। 21 साल तक वे अपना संपूर्ण मेवाड़ राज्य लेने के लिए संघर्ष करते रहे और 1597 तक अपने मेवाड़ का अधिकांश हिस्सा लेकर ही दुनिया को अलविदा कहा।

It's Me �� Pradip Sharma ,,, it was being stuck in a dead-end job working for a micro-managing supervisor. There was an incident at work where my supervisor overstepped his bounds. He did somethi…

Post a Comment