Search Suggest

Army Day 2022 in India: Greeting, Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & Whatsapp status

 " तुम हमारे घर में घुसने की कोशिश करोगे, हम भारतीय सेना तुम्हारे घर में घुस कर मरेंगे।" "15th January Army Day 2022 in India" Greeting, Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & Whatsapp status.

15th January Army Day 2022 in India" Greeting, Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & Whatsapp status
Image credit: Canva


1. "आसमान में हजारों सितारों के होने से कहीं अच्छा हमारे कंधे पर दो सितारे हैं।"


2. "शांति से आप अपने घर में रह सकते हैं, जबतक कि भारतीय सेना सीमा पर तैनात है।"


3. "हमें इस बात का अफ़सोस है कि हमें अपने देश पर जान देने के लिए सिर्फ एक ही जान है।"


4. "यदि कोई आदमी आप से कहता है की उसे मौत से डर नही लगता है तो निश्चित ही वह या झूठ बोल रहा होंगा या फिर Indian Army का जवान होंगा।"


5. "सारे जहाँ से अच्छा , हिन्दुस्तान हमारा,

 हम बुलबुले है इसकी , ये गुलिस्ताँ हमारा."


6. "हमारी दिवाली में रोशनी इसलिए हैं,

,, क्योंकि सरहद पर अँधेरे में कोई खड़ा हैं..!!"


7. "मरने के बाद भी जिसके नाम मे जान हैं,

ऐसे जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है देश के उन वीर जवानों को सलाम..!!" -- Happy Army Day 2022 in India


8. "जिसकी वजह त सारा देश चैन की साँस सोया करै,

वो फौजी होया करै..!!"


9. "जो खतरा त लड़ा करे वो खिलाडी होया करै,

पर जो गर्दन कटे बाद भी दुश्मन ने मारा करै वो फौजी होया करै..!!"


10. "जो जीता है.. दूसरों के लिए,

वही एक फौजी कहलाया..!!"


फील्ड मार्शल कोदंडेरा एम. करियप्पा (तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल) के अंतिम ब्रिटिश कमांडर जनरल फ्रांसिस बुचर से भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ के रूप में पदभार ग्रहण करने की मान्यता में, भारत में हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है।  -इन-चीफ ऑफ इंडिया, 15 जनवरी 1949 को। यह दिन राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के साथ-साथ सभी मुख्यालयों में परेड और अन्य सैन्य शो के रूप में मनाया जाता है।  15 जनवरी 2021 को भारत ने अपना 73वां भारतीय सेना दिवस नई दिल्ली में मनाया।  सेना दिवस देश और उसके नागरिकों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले बहादुर सैनिकों को सलाम करने का दिन है।


Articles source: Wikipedia and Desh Bhakti video status

It's Me �� Pradip Sharma ,,, it was being stuck in a dead-end job working for a micro-managing supervisor. There was an incident at work where my supervisor overstepped his bounds. He did somethi…

Post a Comment